top of page

"रातों रात कोई नहीं मरता" कोविड -19 महामारी के दौरान एक धावक द्वारा लिखा गया, लेखों का एक संग्रह है, जो मई 2020 और अप्रैल 2021 के बीच एक फिटनेस मैनुअल के रूप में प्रस्तुत है। यह पुस्तक उन सभी लोगों के लिए एक विनम्र भेंट और श्रद्धांजलि है, जिन्होंने वैश्विक महामारी के दौरान एक दूसरे को समर्थन किया और एक बेहतर दुनिया बनाने के लिए प्रोत्साहित किया। सभी लेख स्वास्थ्य और दौड़ से संबंधित हैं। लेखक ने अपने ह्रदय में गहरे विश्वास के साथ यह विचार किया कि उनके महामारी से बच निकलने का संभावित कारण 2008 से ,48 साल की उम्र में उनके दौड़ने का शौक है । लॉकडाउन के दौरान लेखक को सुबह जल्दी उठकर अकेले दूर- दराज की सड़कों, छतों, छज्जों तथा पार्किंग स्थल और घर के अंदर दौड़ने के लिए , निश्चित रूप से साहस की आवश्यकता थी। लेखक ने लेखों को तीन बुनियादी पहलुओं को ध्यान में रखकर लिखा है

एक - वैज्ञानिकता को शामिल कर, जैसे दौड़ने के पहलू, दौड़ने की मुद्रा, दौड़ने की ताल, सांस लेने की क्षमता, लैक्टेट सीमा और अधिकतम आक्सीजन ग्रहण।

दूसरा-कार्बोहाइड्रेट पर मिथक,विटामिन और खनिज का महत्व, शाकाहारी भोजन, और बेहतर प्रदर्शन के लिए उनका खान -पान । तीसरा - 60 से अधिक उम्र का धावक होने के कारण उन्होंने व्यायाम और दीर्घायुता , नींद का महत्व तथा वृद्ध धावक,जैसे विषयों को शामिल किया। 2020 और 2021 के महामारी दौरान अपनी व्याख्या देने में वह स्वयं ही काफी स्पष्टवादी थे जो ,विशेष रूप से दौड़ से संबंधित थे । जूतों का चयन करना, मधुमेह को समझना, रक्त डोपिंग और इस पर विवादास्पद विचार विमर्श यह एक और भी सामान्य दृष्टिकोण था ।

Nobody Dies Tonight Hindi Version

$15.00Price
  • Sanjai Banerji
  • All items are non returnable and non refundable
bottom of page